रविवार, 15 नवंबर 2015

आदिकाल की रचनाएँ और रचनाकार

आदिकाल की रचनाएँ और रचनाकार
प्रस्तुति : मुहम्मद इलियास हुसैन
Hindisahityavimarsh. Blogspot. In
खुमानरासो   दलपति विजय   नवीं शताब्दी
राउरवेल       रोडाकवि           दसवीं शताब्दी
विजयपालरासो नल्हसिंह       ग्यारहवीं शताब्दी
पृथ्वीराजरासो   चन्दरबरदाई  बारहवीं शताब्दी
बीसलदेव नरपतिनाल्ह          बारहवीं शताब्दी
जयचंद प्रकाश      भट्टकेदार बारहवीं शताब्दी
जयमयंक जसचन्द्रिका मधुकर कवि बारहवीं शताब्दी
परमालरासो (आल्हा खंड) जगन्नाथ तेरहवीं शताब्दी
खालिकबारी अमीर खुसरो तेरहवीं शताब्दी
वसन्त विहार अज्ञात कवि तेरहवीं - चौदहवीं शताब्दी
विद्यापति पदावली विद्यापति चौदहवीं शताब्दी
वर्णरत्नाकर ज्योतिरीश्वर ठाकुर चौदहवीं शताब्दी
ढोला मारू रा दूहा  कुशललाभ पन्द्रहवीं शताब्दी

Google. Co. In आदि काल की रचनाएँ और रचनाकार

5 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत ही सुंदर । धन्यवाद आपका साझा करने के लिये ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. "रचना -रचयिता "
    रीति व शैली जो झुठलावे,
    वह अम्बर में दिया दिखावे ?
    पठ रचना आनन्द न आवे ,
    सो साहित्य घास कहावे |
    अंतरवृत्ति पर ध्यान लगावे ,
    सामन्जस्व ले सन्देश सुनावे ,
    वाह्य अध्ययन ना कर पावे ,
    रचना वह कह कहा कहावे ||
    दार्शनिक पक्ष कवि रख आवे ,
    संस्कृति का डंका पिट्वावे,
    जो विश्लेषण में खरा दिखावे ,
    प्राणवान व्यक्तित्व कहावे ||
    प्रेरणा जन-मानस पहुचावे ,
    प्रतिष्ठित सोद्देश्य लखावे,
    साहित्य कलाकार पनपावे,
    विविध -भाव कवित्त सुनावे |
    मानस विश्लेषण करते आवे ,
    प्रेरणा और अध्ययन सिखावे |
    समय समाजपर कविता सुनावे,
    साहित्यिक राजनीतिज्ञ कहावे ||
    हास्य व्यंग की दुनिया में ,
    धाय -धाय उ ढोल बजावे ,
    'मंगल' सुविधाभोगी समाज ,
    गीत और गवनई सुनावे ||

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत महत्वपूर्ण जानकारी प्रस्तुत करने के लिए हिंदी साहित्य विमर्श संपादक मंडल को बधाई।

    उत्तर देंहटाएं